बिहपुर विधायक इंजीनियर शैलेंद्र कुमार ने कसमाबाद गांव का किया निरक्षण ।

बिहपुर विधायक इंजीनियर शैलेंद्र कुमार ने कसमाबाद गांव का किया निरक्षण ।
ग्रामीणो से बात करते विधायक

रिपोर्ट:- संजीव कुमार 

कसमाबाद गांव मे बिजली, सडक,सरकारी स्कूल नहीं होने.पर जल्द होगे गांव मे सारी सुविधा ः इंजीनियर शैलेंद्र


भागलपुर बिहपुर विधानसभा क्षेत्र के कसमाबाद गांव का निरक्षण करने बिहपुर विधायक इंजीनियर शैलेंद्र कुमार पहुचे।इस दौरान विधायक इंजीनियर शैलेंद्र कुमार ग्रामीणों के साथ संयुक्त बैठक कर गांव की मुलभुत समस्याओं के बारे मे जानकारी लेते हुए कहा कि आप लोगों कि सभी  समस्याओं का जल्द निदान होगा।साथ ही पुर्व विधायक बुलो मंडल का विरोध करते हुए कहा कि जो आज तक समस्याओं का निदान नहीं किये गए है। और आप लोग बुलो मंडल को  जिताने का काम 25 साल से कर रहे हैं। बुलो मंडल आप लोगों को अबतक लालटेन जलाने का काम किये हैं।अब आप लोगों के पास हम आए हैं।अब आपके गांव का विकास होगा बहुत जल्द बिजली एंव सडक का निर्माण कराते हुए कहा कि गांव मे भी बहुत जल्द सरकारी.स्कूल भी खोले.जाएगे। इस लिए विभागीय अधिकारी हमारे कहने पर गांव में आकर जानकारी लिए जिससे आपकी समस्या जल्द पुरा होगा।। वहीं ग्रामीण के सामने.बिजली विभाग के अधिकारियों को भी दुरभाष पर गांव मे बिजली जल्द  लगाने कि बात कही। वहीं समाजसेवी बबलू मंडल ने भी गांव कि सारी समस्याओं से अवगत करते हुए कसमाबाद गांव को सुलतानगंज विधानसभा में जोडने कि बात कही।इस दौरान इंजीनियर शैलेंद्र. ने मिडिया को बताया कि गांव मे अबतक बिजली सडक व सरकारी स्कूल नहीं हैं।इसके लिए अधिकारियों से बातचीत कर लि गई हैं।जल्द से समस्याओं का निदान किया जाएगा।साथ ही कसमाबाद गांव को सुलतानगंज विधानसभा जोडने के सवाल.पर कहा कि विधानसभा इसकी आवाज उठाए थे।लेकिन बुलो मंडल के द्वारा पारित नहीं होने.दिया गया।बुलो मंडल वोट बैंक बनाने के चलते गांव का अबतक विकास नहीं हो पाया था।अब हम आ गए हैं। कसमाबाद गांव का विकास जल्द होगा।इस दौरान एनडीए के कार्यकर्ता एंव ग्रामीण कंचन मंडल, पप्पू मंडल, सरवन मंडल, छोटन कुमार ,कैलाश मंडल ,सोनेलाल मंडल, सुखारी मंडल, सफल देव मंडल, रमेश मंडल संजीव मंडल, पवन मंडल, आत्माराम दुबे, गोपाल मंडल, अमर मंडल ,विजय मंडल, सुबोध मंडल,  मिथुन मंडल,  उमेश मंडल ,विनोद मंडल ,मोहनी मंडल, संतो मंडल,  रामभजो दास ,ललन मंडल, भोला दास ,कालिदास, प्रमोद मंडल, अमित मंडल, राजू मंडल,सहित तमाम ग्रामीण मौजुद थे।